समाचार

रमेश पाण्डेय 

चारों तरफ खामोशी है। पर गांव अपनी जगह वहीं है जहां था। जाड़ों में गांव की दुकान उठने बैठने की खास जगह बन जाती है।

एल. मोहन कोठियाल  

1993 में जब तुम्हारे मरने की गलत खबर छपी छपी थी तो दसियों जगह श्रद्धांजली सभायें हुई थी और दिल्ली में तुम्हारी प्रतिमा लगाने की बात हुई थी।

महावीर सिंह जगवान 

ऐसा तो कोई नही जिसे जीवन के सफर मे छोटी छोटी या अनगिनत कठिनाइयों का सामना न करना पड़ा हो।

चैनल माउन्टेन, मीडिया के क्षेत्र मैं काम करने वाली एक अग्रणी एवं स्वायत्त संस्था है . जो की पिछले 21 सालों से सतत कार्यरत है.

Channel Mountain Ink


Contact for more details

 

आपके

लेख/ सुझाव/ विचार ...

सादर आमंत्रित हैं


संपर्क करें:

फ़ोन: +91 9411530755

ई मेल : paharnama@gmail.com